Google+ Followers

Wednesday, 30 November 2016

201 अभिलाषाएं (Abhilashaen)

हर मन में अभिलाषाएं पलती हैं ।
कई आशाएं मन में फलती हैं ।
हर अभिलाषा पूरी करना तेरे अपने बस में है ।
सपने जो तू सजाता है ,अगर,
 तू चाहे तभी तो तू वह पाता है ।
अपना निश्चय दृढ़ कर ,
अपनी अभिलाषाएं ऊंची उठा ।
जो होगी तेरी शक्ति दृढ़ ,
तभी तो मंजिल सकेगा तू पा।
काम को टालने का बहाना मत बना।
खुद को थका, हारा ,परास्त ,प्राजित मत समझ ।
काम कर और बस काम कर ।
खुद ही तेरे काम सफल होते जाएंगे
यह तुझे अपनी शक्ति का चमत्कारिक रूप दिखाएंगे
 अपने मस्तिष्क से निराशा निकाल दे
 उसमे सुंदर अभिलाषाओं के सपने सजा दे
उस काम से तू प्रेम कर
फिर रहेगा तू हर बाजी जीतकर
 तेरी हर उलझन ,हर समस्या ,मिट जाएगी
तुझे अपनी जिंदगी बदली बदली नजर आएगी ।
हर काम को अकलमंदी, चतुराई, कुशलता और सतर्कता से कर।
 फिर तुझे हर पथ पर सफलता मिलेगी निरंतर।।
201 24 july 1990
Har Mun may Abhilashain palti Hai.
 kai Ashain man mein phalti hain.
Har Abhilasha Puri karna Tere Apne Bas Me Hai.
 Sapne Jo Tu sjata hai agar tu Chahe tabhi Toh to tu wo Pata Hai .
Apna Nischay ,drid kar .
apni Abhilashain unchi utha .
jo Hogi Teri Shakti drid,
Tabhi Toh Manzil sakega tu pa .
Kaam talnai ka Bahana mat to Bana.
Khud Ko thaka, harra, prast, pRajit  mat Samaj.
Kaam kar bas kaam kar .
Khud he Tere kaam Safal Hote Jayenge .
Yeh Tujhe apni Shakti ka chamatkarik Roop dikhayenge .
Apne mastishk se nirasha nikal De .
Usme Sundar Abhilashapon  ke sapne Saja De .
us ka am se tu Prem kar .
Phir Rahega Tu Har Bazi Jeet kar .
Teri Uljhan, Har samasya MIT Jayegi .
Tujhe apni Zindagi Badli Badli Najar aayegi.
Har Kham Ko akalMandi, chaturai, kushalta aur starkta Se Kar .
Phir Tujhe Har Path per safalta Milegi  nirantar.

Tuesday, 29 November 2016

200 सफलता के कारण ( safalta ke kaaran )

अपने विचारों को सीमित नहीं आसीम बना ले।
कर हिम्मत और पढ़ कर अपनी मंजिल को पा ले।
 जो तू कुछ आशा ही नहीं कर सकता तो तेरा जीना व्यर्थ है ।
पाना और पहले से बढ़ कर पाना ही जीवन का अर्थ है ।
जितनी ऊंची तेरी सोच होगी ,उतना ही तेरा साहस बढ़ेगा ।
साहस के साथ श्रम बढ़ेगा और आलस घटेगा ।
अगर तू गरीब है तो यह ना सोच गरीब ही रहेगा ।
तेरी सोच होगी अमीर बनने की तो तू अमीर बनेगा ।
तू  ईश्वर की संतान हैं ।
जिस कार्य के लिए आया है पूरा करना तेरा काम है ।
हाथ बढ़ा और ,और बड़ा ।
दुनिया को ऊंचा उठ कर दिखा।
 संकल्प शक्ति जो तुझ में दृढ़ हो तो ,
तुझे कोई न रोक पायेगा ।
होगा फिर तेरी जिंदगी में वही ,जो तू चाहेगा ।
अपनी सोच कभी भी नीची ना होने दे।
यही कारण हो सकता है जो तुझे आगे बढ़ने से रोक दे।
 आसान हो जाएगी खुद ही तेरी राहें ,
जो तू दृढ़ हो जाएगा ।
और फिर लग्न से जो श्रम करेगा ,
तो तू उस मंजिल को पाएगा।
24 July 1990.       200
Apne vicharon ko tu seemet nahi aseem bana le.
kar Himmat Aur badh kar apni Manzil ko pa l e.
Jo toh kuch aasha hi nahi kar sakta tuo Tera Jeena wherath hI.
Panna or Pehle Se Badhkar Pana He Jivan ka Arth Hai .
Jitni unchhi Teri Soch Hogi utna He Tera Sahas badega .
Sahas ke sath Shram badega aur Aalas tutega.
agar tu Garib Hai Tu Ye Na Soch Garib Hi Rahega.
 Teri Soch Hogi Amir banne ki tou tu Aamir Banega.
 Tu Ishwar ki santaan Hai.
 Jis Karye Ke Liye Aaya hi poora karna Tera Kham hai .
Hath Bada aur ,aur Bada.
 Duniya Ko uncha uth Kar dikha .
Sankalp Shakti Jo Tujh Mein drid ho toh Tujhe Koi N rok paega .
Phir Teri Zindagi Mein Wahi ho ga jo Tu Chahe ga.
 apni Soch Kabhi b neeChi na honede .
Yahi Karan ho sakta hai Jo Tujhe aage badne se Roke day.
 Aasan ho jayegi Khud hi teri rahein Jo Tu Dirid Ho Jayega .
aur phir Lagan se jo shrem Karega toh tu us Manzil Ko payega

Monday, 28 November 2016

199 अवसर का लाभ (Avsar k laabh)

समय की गति बड़ी तेज है ।
आगे हैं इसके बाल पीछे से गोल गंजा सिर चमकता सफेद है।
 पकड़ सके तो आगे से पकड़ ले।
 लगन है तो इसको आते ही जकड़ ले ।
जो छूट गया एक बार तो लाख कोशिश कर तू पकड़ ना पायेगा ।
इसको आगे ही अगर ना पकड़ा ,तो पीछे पछताएगा ।
तभी कहता हूं, तू अवसर का लाभ उठा ले ।
जो मिल सकता है जिंदगी में वो पाले ।
अवसर का है बड़ा महत्व ।
जो लाभ उठा ले ,उसकी जिंदगी जाती है बदल ।
जो लोग इसके लिए तैयार नहीं रहता ।
खो जाने पर ,अपनी किस्मत ही ऐसी थी ,है कहता ।
पहले से ही आने वाले अफसर के लिए, खुद को तैयार कर ले।
अगर हाथ आया अफसर खो दिया ।
तो वो नहीं आएगा, फिर तू चाहे जो भी कर ले ।
शक्ति को अपनी और बड़ा ।
आने वाले अफसर के लिए तैयार हो जा ।
जो लाभ उठा लिया तो बाजी होगी तेरी ।
जो खो दिया फिर ना कहना ,यही किस्मत थी मेरी।
 199.   24 July 1990

 Samay ki gati Badi tej hai .
aagaye hain iss ke baal piche se gole Ganja Sier Chamakta Safed Hai .
Pakkar sake toh aage se Pakad Le .
lagan Hai To is Ko Aate He jKar Le .
jo chuoot gaya ek baar to lakh koshish kar to pakkar Na payega.
 is qe Aate Hi Agar Na pkda Toh Phir Piche pachtayega .
Tabi kehata Hoon, Tu agar ka labh uthale.
 Jo Mil Sakta Hai Zindagi Mein Woh Pale.
Avshar ka hai bada Mehtav.
 Jou labh  uTha l e uski Zindagi Jati Hai Badal.
Joe log issk liye tiyar Nahi rheata .
KHo Jane par apni Kismat hi aisi Thi hai k hta.
Pehle Se Hi Aane Wale Avsar  k liye Khud Ko tyyar Karle .
Agar Haath Aaya Avsar kho Diya To vo kabhi nahi aayega .Phir Tu Jo Karle.
Shakti ko apni aur bdha.
 aane wale avSar k liye tyyaar hooja.
 Jhu labh  uTha lya toh bazi hogi teri .
Jo kho Diya Phir Na Kehna Yeh He Kismat thi Meri.

Sunday, 27 November 2016

198 आत्मचिंतन(aatm chintan)


दुखी है मन मेरा तेरा तो आत्मचिंतन  कर ।
क्यों सोचता है तू कुछ नहीं कर सकता ,
तू सब कुछ कर सकता है बस ,दुनिया से मत डर।
तू दुखी भाग्य के कारण नहीं अपने ही कारण है।
सुख दुख मनोभावना आए हैं तो खुद ही इसका कारण है।
सुख चाहता है तो आत्मविश्वास  भर ले तू मन में ।
मंजिल चाहता है चुस्ती फुर्ती भर ले सुतन में ।
जब तक तू खुद को ना पहचाने सुख पायेगा कहां ।
आ्त्मविशवास   ना होगा तुझ में तो चैन पाएगा कहां ।
बाहरी आकर्षण कि छोड़ आंतरिक यथार्थ में खो जा।
आतम चिंतन कर ,आत्मविश्वावास जगह और सुख से परिपूर्ण हो जा।
 आत्मचिंतन जो होगा मंजिल तब तय होगी ।
मंजिल तय कर आतमविशवास जगा।
आतमविशवास जो होगा, हौसला होगा
होंसला होगा तो रास्ते में आगे बढ़ना होगा।
 आगे बढ़ने के लिए श्रम चाहिए।
 श्रम चाहिए तो आलस खोना होगा ।
आलस खोएगा तो बहुत कुछ पाएगा ।
बढ़ा जा अपनी मंजिल की ओर ,
आखिर तू अपनी मंजिल पाएगा।
24 july 1990.  198
Dukhi hai man tera to atam Chintan Kar .
Kyun Sochta Hai Tu Kuch nahi kar sakta .
Tu sab kuch kar sakta hai ,bus Duniya Se Mat dar.
Tu Dukhi Bhagya ke kaaran nahi ,
Apne he Karam Hai .
Sukh Dukh Manobhavnayen Hai ,
To Khud hi iska Ka karan Hai .
Sukh chahta Hai To Aatum Vishwas bhr le tu Man mai .
 Manzil Chahta Hai to chusti furti bhar le tu Tan mai,
 jab tak Tu Khud Ko Na Pehchane Sukh payega Kahan.
 Aatam Vishwas Na Hoga tujh Mein To chain payega kahan .
Bahari Akarshan Ko Chod auntrik ytharth me kho ja,
Aatam Chintan kar, aatam viswas Jagah or Sukh se Pari Puran ho ja.
aatam Chintan jo hoga Manzil tab tay Hogi .
Manzil tay kar aatmvishwas jgha.
aatmvishwas jo hoga Honda Hoga,
Honda Hoga Toh Raste Mein Aage badhna Hoga.
Aage badhne ke liye shram chahiye.
Shram chahiye to Aalce khona Hoga.
Aalce khoyga to bahut kuch payega.
 Bada Ja apni Manzil ki or tu.
Akhire Tu apni Manzil paayega

Saturday, 26 November 2016

89 दिल टूट गया है (Dil toot gya h)

हंँस-हंँस के सि्तम सहते रहे तुम्हारे,
 अब तो दिल टूट गया है।
 बहुत मुश्किल से थामें बैठे थे इस दिल को,
 अब तो बांध इस नदी का टूट गया है ।
जोड़ने को भी दिल नहीं चाहता अब तो,
 जो सपना था  आंखों का ,वह तो टूट गया है।
 संग चल रहे थे तुम्हारे कितने इल्जाम लेकर भी,
मगर लगता है ,अब कदम कदम से चूक गया है ।
क्या कहूं इस दिल का खून करने वाले ,
मेरी किस्मत ने ही मुझे लूट लिया है।
 दिल धक से रह जाता है मेरा ,
जब तुम कुछ कहते हो, तीर चलते हैं ।
जो दिल थामें बैठे थे,
 वह इनको सह सह कर आखिर,
 हाथों से छूट गया है।
 दिल टूट गया है।
11 |Sept 1989       89
 hans hans ke Sitam sehte Rahe Tumhare,
Ab Toh Dil Toot Gaya Hai,
 bahut Mushkil se thame baithe hai Is Dil Ko,
Ab Toh Band is Nadi Ka Tut Gaya Hai,
Jodne Ko Bhi Dil Nahi chahta ab to.
 Jo Sapna Tha, aankhon ka, vo Toot Gaya Hai.
Sung Chal rahe hai tumhare kitne iljam Lekar Bhi,
Magar lagta hai, ab Kadam Kadam Se chuk Gaya Hai,
Kya Kahoon Is Dil ka khoon Karne Wale,
Meri Kismat Ne he Mujhe Loot Liya Hai .
Dil dhak Se Reh Jata Hai Mera.
 Jab Tum khuch Kehte Ho ,tree chlte Hain .
Jo Dil Thamain Baithi The.
 Vo inko Sah Sah kar Aakhir Hathon Se choot Gaya hai.
Dil Toot Gaya Hai

Friday, 25 November 2016

86 तोड़ दिया दिल का शीशा (tod diya dil ka sheesha)

ठेस लगी है मेरे दिल को ,
जो तूने इस तरह दामन छुड़ाया है।
दिल का दिया जो जल रहा था कितनी शान से,
तूने किस तरह बुझाया  है ।
यह आँसू जो बह रहे हैं,
मोती बने, समेटना चाहता हूं ।
जो जख्म तूने मुझे दिए हैं ,
उन्हें हरा ही रखना चाहता हूं ।
ताकि जिंदगी कट जाए मेरी इन्हीं यादों से,
मुझे अब कुछ लेना नहीं तेरी फरियादों से ।
राह में अब कहीं मिल भी गए अगर  ,
देखेंगे ना तुम्हें मगर छलक जाएगी नजर ।
चाहता हूं तुम पकडो वो डगर ,
जिसका रास्ता आता ना हो इधर ।
मैं थामे रखूंगा टुकडे जिगर के ,
बस तुमसे यही गुजारिश है ,
तुम गुजर ना ना इधर से।
86.  4 Sept 1989

Thursday, 24 November 2016

76 मौत को आवाज़(Maut ko aawaj)

ऐ मौत तुझे पुकारता हूं ,सुनसान अंधेरों में ।
कहां जा छुपी है डर कर बसेरों में ।
जोश ए खून मेरा खौ़ल रहा है ।
क्या तेरा दिल इस पर डोल रहा है ।
मैं तुझे पुकारता हूं तू दूर जाती है ।
तू मुझसे डरती है, या शर्माती है ।
जब जीने की तमन्ना करता था ,
तो राह राह पर मौत ने दामन फैलाया ।
अब बुलाता हूं ,तो तूने किस तरह अपना दामन बचाया ।
जीना जो चाहा तो तेरा रुख रहा हमारी तरफ ।
अब बुलाता हूं तो जाने कहां को है तुम्हारा रुख।
 जमाना बदला उसके साथ तुम भी बदल गए ,
हालात जो बदले मेरी जिंदगी के तो तेरे रास्ते भी बदल गए।
 हर तरफ आवाज देकर देख ली तुझे
 सुनसान राहों में कहां नहीं खोजा ।
जाने कहां बसेरा डाला है तूने आज कल ।
किसने तुझको है कहां रोका ।
जो दिल भर गया हो उससे ,
तो तुम्हें बुलाता हूं ।
गुजरना इधर से,
मैं तेरा राहे कदम बनना चाहता हूं ।
अब तो तेरे ही साथ चलना चाहता हूं।
25Aug 1989. 76

Wednesday, 23 November 2016

43 ठोकर जो लगी तो सामने आया हकीकत क्या है (Thokar Jo Lgi Samne Aaya Haqiqat Kya Hai)

ठोकर जो लगी तो सामने आया हकीकत क्या है, जख्म कहते हैं किसे, मुसीबत क्या है।
 तुम नहीं जान सकते मेरे अल्फ़ाज जानकर ,
कि मेरे दिल की हालत क्या है ,
1. चलते चलते जो गिर जाएंं, तो कैसा लगता है  
   तुम क्या जानो कैसा लगता है ,
   तुम्हें तो जैसा पहले था, वैसा ही लगता है ।
2. जिंदगी की राहों पर चलना ,
    फिर उस पर गिर के संभलना ।
    तुम क्या जानो कैसा लगता है
   तुम्हें तो जैसा पहले था ,वैसा ही लगता है ।
3 . मुश्किलों का दरिया जो सामने हो ,
    उसे पार करना कैसा लगता है ।
    तुम क्या जानो कैसा लगता है ,
    तुम्हें तो जैसा  पहले था ,वैसे ही लगता है
4.  उलझनों को सुलझा कर जो खुशी मिलती है ,
     कैसा लगता है ।
     तुम क्या जानो कैसा लगता है।
मगर ,
ऐसी ठोकर जो आज दिल पर लगी है ,
सामना कर नहीं पा रहा हूं ,
जख्म तो बढ़ता ही जा रहा है ,
नहीं जानता इसका अंजाम क्या है ,
मौत है या जाम है ,
माफ करना है या इंतकाम है ,
गम में जलना है या आराम है ,
धरती है यह आसमान है ,
जिंदगी मंजिल है या, मौत मुकाम है।
24 June 1989  43
Thokar Lagi Tuo Samne Aaya Haqeeqat kya hai.
 zaqkm kehte hain Kisie, musebaat kya hai .
tum nehe Jaan Sakte Mere Alfaaz Jaan Kar,
 ki Dil Ki Halat kya hai .
1
Chalte Chalte Jo gir jao to Kaisa Lagta Hai ,
Tum Kya Jano Kaisa Lagta Hai .
TuMai Tu jeiSa pehle Tha Waisa hi Lagta Hai.
2. Zindagi Ki Rahon Mein Chalna Phir uspe gir Ke sambhalna .
Tum Kya Jano Kaisa Lagta Hai.......
3. Mushkilon Ka Dariya jo Samne Ho
use paar karna Kaisa Lagta hai
tum kya Janu.........
4.uljano ko Samjha kar Jo Khushi Milti Hai .
Kaisa Lagta Hai .
Tum Kya Jano Kaisa Lagta Hai ..
Magar ,
Aisi Thokar Aaj Dil Pe Lagi Hai ,
SamNa Kar nahi Pa Raha Hu .
Jakm toh badta hi Ja Raha Hai,
 Nahi Janta Is Ka Anjaam Kya Hai .
Maut hai ya jaam hai.
maaf karna hai ya Inteqam hai .
Gum mein Jalna hai ya aaram hai.
 Dharti Hai Ya Aasman Hai.
 Zindagi Manzil Hai Ya Maut Mukam hai

Monday, 21 November 2016

09 रात दिन खोए प्यालो में (Raat din khoye pyaali )

रात दिन खोए प्यालो में
जाम पीते हैं हम ख़यालों में।

1. यादें वफा की ,
जिंदगी बन गई है ,
 अब हमारे लिए यह बंदगी ,
सोचता हूं कि क्यों तुमसे यूं मैंने प्यार किया था
और तुमने भी पल भर के लिए
दिल मुझ पर निसार किया था ।
इसी याद में ,
रात दिन खोए प्यालो में ,
जाम पीते हैं हम ख़यालों में ।

2.आंखों में आंखें डालकर बैठे थे हम कहीं ,
प्यार की दास्तां शुरू हुई थी वही।
न जाने क्यों फिर वह दिन लौटते नहीं ।
इसी सोच में ,
रात दिन खोए प्यालो में,
जाम पीते हैं हम ख़यालों में ।

3.अब तो जिंदगी के लगता है ये आखिरी लम्हे हैं।
 हम तो बैठे इसी गम में हैं ,
कब मिलेगी वह खुशबू जो तुम्हारे तन में है।
वह मिलती नहीं किसी कोने में ।
रहते हैं उसी खोज में,
रात दिन हुए प्यालो में ,
जाम पीते हैं हम ख़यालों में।
09 1986

Sunday, 20 November 2016

127जब से आए हैं, दूसरे जहां से हम ।
याद आते हैं वो ,जो चले हमारे संग दो कदम ।
किस तरह बिछड़ जाते हैं हम चाहने वालों से ,
ले आता है वक्त फिर पास हमें, हमसे जलने वालों के ।
प्यार तो हमें कभी पूरा मिला ही नहीं ,
छीन लिया दूसरों ने जो प्यार मिलने लगा कहीं ।
हमारा वक्त तो तलाश में ही निकलता है ,
छीन लेता है प्यार हमारा जो भी पास से गुजरता है।
 127.  13 Dec 1989

Hindi in English alphabets......

Jab Se Aaye Hain, Do Sare Jahan Se Hum
Yaad Aate Hain Woh, Jo chalay Hamare sang do Kadam.
 Kiska trhai Bichad Jate Hain Hum chahane Walo se ,
le aata hai Waqt Phir pass Hame, Hum Se Jalne Walon Ke .
Pyar To Hame Kabhi poora Mila he nahi, Cheen liya Doosre nein Jo Pyar Milne laga kahin.
 Hamara wakt tuo Talash Me nikalta Hai, chene leta hai Pyar Hamara jo bhi pass se gujarta hai.

Thursday, 17 November 2016

112 देखे उनके भी रंग (Changing colors)Dekhe unke bhi rang


करते थे वह बात हमसे इस तरह,
जैसे हमें अपनी जान से भी अधिक चाहते हैं ।
हमें अपने चाहने वालों में से बताते थे ।
जैसे हमें अपनों से भी अधिक चाहते हैं ।
दिखा दिया रंग उन्होंने भी अपना ।

दूसरों की तरह धोखा देकर ,
जलवा उन्होंने भी दिखा दिया अपना ।

मुस्कुरा तो इस तरह रहे थे,
जैसे उन्होंने हम पर सब कुछ लुटा दिया अपना ।

मगर अब जाना ,
उन्होंने लूट कर हमें ,
खजाना बना लिया अपना।
112. 13 Oct 1989

Hindi in English alphabets.....

Krte they wo Baat Humse Is Tarah,
JeiSe Hame Apni Jaan Se bhi adhik chahate Hain .
Hame Apne chahne Walo me se baataate the.
Jaise Hame Apno Se Bhi Aadhik chahte Hain.
 dikha diya Rang unhone Apna
doosron Ki Tarah Dhoka dekar,
Jalwa unhone dikha diya Apna.
 muskurah to Is Tarah rahe the
Jaise unHonei Hum Pe Sab Kuch Luta Diya Apna .
Magar, ab jana,
unhone looth Kar Hame,
Khazana Bana liya apna


13 Oct 1989.  112
English meaning.....

Have seen their changing color
They used to talk to us like that,
They love me even more than their own lives .
They show that they are my fan.
They show that I am their favorite .
They showed their colors.
By deceiving me,
They also showed his rage.
Now they are smiling,
as they shower everything on me.
But  now I know,
they robbed me,
And took my treasure of love. 

Wednesday, 16 November 2016

85 घर एक खिला हुआ गुलशन (Home sweet Home) Ghar ek khila hua gulshan


यह घर एक खिला हुआ गुलशन है ।
दो पौधों के दो फूलों से महका हुआ चमन है।
खुशबू दूर-दूर तक फैले मेरे फूलों की।
यह तमन्ना है ,मन में इन पौधों के।
फूल देखें किस तरह पूरे करते हैं अरमान इन पौधों के ।
अभी तक तो संग कांटे न थे, तो लहलहाते रहे ।
कांटे जो साथ हों तो देखें कैसे कदम उठाते हैं ।
हवाएं जो तूफानी आयें चलते हुए,तो किस तरह लहलहाते हैं ।
देखें किसके मन को अपनी खुशबू से यह महकाते हैं ।
किस-किस के चमन को खुद से सजाते हैं ।
देखें क्या करते हैं यह गुल इस चमन में,
ताकि गुलों के साथ गुलसतां का भी नाम हो इस गगन में।
         85.    4 Sept 1989
Hindi in English alphabets...

Yeh Hai Ghar ek Killa Hua Gulshan Hai .
Do podon Ke Do Phool Se mehkha hua chman hai .
Khushboo door door take phelay Mere Phoolon Ki
Yai Tamanna Hai Man me in podon Ke .
Phool Dekhe Kis tarh  Puri karte hain Armaan Inn podon k .
 abhi tak to Sung Kante na The to lehlhathe Rahe .
Kaante Jo Saath Hoon Tu Dekhen  Kaise Kadam uthate hain,
hawaye  Jo tufani aayen Chalte Huye ,Tu Kis tarH Lailahaate Hain .
Dekhe kis ke man ko apni Khushbu Se Ye mahkaate  Hain .
kis kis ke chamn ko khud se sjaate Hain.
 Dekhin kya kerte hain ye gul is Chaman mein
Takhi Gulon ke sath gulsttan Ka Naam bhi Ho is  Gagan mein.


English meaning.....
This home is fully bloomed garden.
Two plants with two flowers ,it is a flourishing garden.
Aroma spread far, of  my flowers.
These plants has desire in mind.
Lets see how the flowers of these plants fulfill their desire
Yet there were no thorns and they bloomed.
Lets see how they act when surrounded with thorns
Lets see with flow of stormy winds ,  how they bloom.
Lets see how with their fragrance they relax the mind of others.
Lets see whose garden they decorate with themselves.
Lets see what they do in this garden
So that with these flowes achievement gardens name also shine in the sky. 

Tuesday, 15 November 2016

73 जव़ाब का इंतज़ार(waiting your reply) Jawab e intjaar


कोई अंदेशा नहीं उनके जज्बात का,
इंतजार कर रहे हैं हम जव़ाब का ।
जाने क्या अंजाम हो ऐसे हालात में,
पता नहीं हां होगी या ना उनकी बात में ।
दिल को समझाए बैठे हैं इंतजार करो,
इंतजार भी करो, जो प्यार करो ।
बेरुखी या रुख़ को पहचानो ,
पहचान कर ,अपने स्वाल का जवाब जानो।
  73.  21 Aug 1989
 Hindi in English alphabets....

Koi andesha nahi unke Jazbaat Ka
Intezar kar rahe hain Hum jawab ka .
Jaane Kya Anjaam Ho Aise Halat me,
pata nhi han Hogi ya na unke baat mein .
dil ko samjhaye baithe hai Intezaar Karo
Intezar bhi karo jo pyar karo.
BeRuki ya rukh ko Pehchano .
Pehchan kar Apne Sawal Ka Jawab Jano.
72 हर तमन्ना का खून करता हूं,
याद तुम्हारी आने के बाद।
हर सोच तुम्हारी होती है ,
तुम्हारे जाने के बाद ।
मेरी जिंदगी खिल होती है ,
तुम्हारे आने के बाद ।
मगर,
फिर वही खिज़ा छा जाती है,
तुम्हारे जाने के बाद।
हर रंग पर नूर आता है ,
तुम्हारे आने के बाद ।
हर तरफ अंधेरा छा जाता है ,
तुम्हारे जाने के बाद ।
हर   हुस्न बेमिसाल होता है ,
तुम्हारे आने के बाद ।
मगर,
हर जवानी ढलती दिखाई देती है ,
तुम्हारे जाने के बाद ।
पैमाने भर-भर उठते हैं ,
तुम्हारे आने के बाद ।
मगर ,
हर पैमाना छलक जाता है ,
तुम्हारे जाने के बाद ।
जी उठता हूं मैं ,
तुम्हारे आने के बाद।
मगर,
फिर वही  गम पास आता दिखाई देता है,
तुम्हारे जाने के बाद ।
जो जाम भरते हैं तेरी आंखों से ,
तुम्हारे आने के बाद ।
वही जाम, गम ए इश्क से भरते हैं ,
तुम्हारे जाने के बाद।
        72.    13 Aug 1989

Sunday, 13 November 2016

129 अंधेरे मुझे भा गए हैं (I love darkness)Andhere muje bha gae hain

अंधेरे मुझे भा गए हैं
तुम मुझसे मेरे दिल से दूर हो गए हो
अंधेरे मुझे ....।
गम तुम्हारा चाहा था बांटना
अब गम मुझे तुम्हारे रास आ गए हैं
अंधेरे .मुझे...।।
साथ हो लिए थे हम तुम्हारे ,
तुम मोड़ मुड गए ,सीधे रास्ते हमें भा गए हैं।
अंधेरे मुझे..............।।।
जुदा, तो कर दिया ,वक्त ने
अब यही ऋतु अच्छी ,जहां तन्हाई के बादल छा गए हैं ।
अंधेरे मुझे........।।।।
14 Dec 1989.    129

Hindi in English alphabets....

Andhere Mujhe ras aa Gaye Hain,
Tum Mujhse Mere Dil Se Dur ho gaye ho andhere ..........
 Gam Tumhara Chaha Tha bantna
Ab gum Mujhe Raas aa gaye hain
andhere Mujhe ras aa Gayi...
 Saath Ho liye the Hum Tumhare
Tum mod mud  Gai,  dredge Raste Hume bha gaye hain
Andheri Mujhe Raas aa gaye hain
Joodha to kar diya Waqt Ne
Ab Yehi rutt acchi , Jahan tanhaai Ke Badal Gayi Hai.
 Andheri Mujhe Raas aa gaye hain

121 जख्म ए दिल (Zkham e dil)


क्यों जला रहे हो दिल को हवा दे दे के ,
क्यों सता रहे हो दिल को सजा दे दे के ।

जिंदगी को जख्मी कर दिया तुमने शब्दों की कटार से ,
जख्म देके पूछते हो ,लहू तो नहीं बहा चलकर तलवार पे।

देखते हैं मुस्कुरा कर आंसुओं को वो हमारे ,
खुश होते हैं जानकर, हमें जख्म हैं कितने सारे।

तमाम गम दे के हमें ,भला वह चैन कैसे पाएंगे ,
तड़पाया है जैसे हमें ,हालात वैसे ही उन्हें कर तड़पाएंगे।
                                121.  15Nov 1989
Hindi in English alphabets....


Kyun Jalla rahe ho Dil Ko hawa De De Ke
Kyun sta rahe ho Dil Ko Saja de de k.
Zindagi Ko jkhme kar diya tumne Shabdon Ki katar Se.
 Zakhm De Ke Puchte Ho lahoo Toh Nahi Baha Chalkar talvar pe .

DekhTay Hai Muskura kar aansuon ko wo Hamare,
Kush Hote Hain Jaan Kar Hame jkham Hai Kitna Sare .
Tmam gam de ke Hame, bhala vo chian Kaise Payenge,
tadPaya Hai Jaise Hame, Halat vaise hi unhen tadpaaingay


English meaning.......
Why are you hurting me
Why are you punishing me for loving you.
Love Life is  injured by dirk words from you,
Your words give me wounds,
and you ask if blood shed going on the sword .
They smile on my tears,
They feel happy seeing my injuries
They will also not get peace by hurting me
Circumstances will come
They will also suffer pain from which I am passing through.

Friday, 11 November 2016

122 कभी हम थे उनके साथी,(kabhi hum the unke Sathi)

 कभी हम थे उनके साथी,
 कभी वो भी थे हमारे।
  हमने दिल दिया था उनको ,वो थे पासवां हमारे।
1) प्यार मैं किसी के,  ठोकर जो खा चुका हो ,
   वही जानेगा कैसे , हमने हैं दिन गुजारे ।
   कभी हम थे........
2) वो चल दिए हैं  देकर टूटा यह दिल हमारा ,
    नहीं जानते हैं वो भी, जुड़ेंगे टुकड़े यह कैसे सारे।
    कभी हम थे........
3) अब मौत का ही हमको, इक इंतजार है आखिर,
    यही आरज़ु है अब तो ,जान जो निकले तो पास तुम्हारे।
    कभी हम थे........
                     122.   23. Nov 1989
Kabhi Hum unke Sathi,
Kabhi Woh Bhee te Hamare
Humne Dil Diya Tha unko,
Vo te paaswan Hamare
1. Pyar Mein Kisi ke, thoker jo kha chuka Ho,
Wohi Jane ga  k Kaise, Humne hai din gujare
 kabhi Hum te.....
2.vo chal site hein decre to ta ye Dil Hamara Nahi Jante Hai voby , jhodenge Tukde Yeh kaise Sare.
Kabhi Hum tey ....
3.ab maut ka hi Humko, Ek Intezaar Hai Aakhir,
 Yahi Arzoo Hai Ab To Jaan Jo Nikle to pass Tumhare .
Kabhi Hum....


English meaning...
Once they  were my sweetheart, and I was of them.
  I gave them my heart,  they were the aim of my life.
1) someone who deceived in love only knows
   how i spent the days .
  Once.. ......
2) they  give me back my broken heart,
   They also  do not know , how to mend broken pieces of my heart.
    Once........
3) now i am waiting for my last moment ,
    My last desire is to die in your arms,
  Once....... 

Thursday, 10 November 2016

194अश्क जो बहे गम बाहर आ गया,
 मगर होंठों से वह फिर दिल में उतर गया।
दीवानगी का वो आलम है कि कुछ सूझता ही नहीं,
हाले दिल कैसा है हमसे कोई पूछता ही नहीं।
जज्बात जो उठे दिल में, किसी से कह ना सके ,
दिल खो कर भी देखिए हम किसी से के हो ना सके ।
मायूसियों ने घेरा है मुझे कुछ इस कदर,
कि हर शाम गमगीन नज़र आती है हमें ।
भूल जाना चाहता हूं तुमको मगर ,
फिर वही तेरी याद सताती है हमें ।
उनकी हर एक अंदाज पर फिदा हो गए थे हम ,
हमारी नजर तो उन पर ही थी,
फिर भी पता न चला कब जुदा हो गए थे हम।
     194    1 June 1990
English meaning.......

Tears reduced my pain and sorrow,
 but harsh words again put me in pain
I reached the apex of madness and passion
But nobody cares me
Emotion which arose in the heart,
could not say to somebody ,
I lost heart but can't get there.
Sadness is surrounded in a way,
That every evening getting inconsolable.
I want to forget you,
But remember you all the time which is  disturbing .
I was floored, on him for their ways,
My eye was on them,
but did not know when we were separated. 

Wednesday, 9 November 2016

191 दोस्तों से मिलन (Doston Se Milan )

खुशी होती है जब मिल जाते हैं हम सब एक जगह ,
खत्म हो जाती है हर दिल से हर कलह।
प्यार ही प्यार होता है सबके दिलों में ,
कितनी खुशी होती है दोस्तों से मिलने में ।
आज भी कुछ ऐसा ही महसूस हो रहा है,
आँख हंस रही है दिल रो रहा है ।
जानते हैं हम,  तुम हमसे जुदा हो जाओगे ,
कुछ नहीं कहेंगे हम तुमसे तुम खफ़ा हो जाओगे।
तुम से तो हम कुछ नहीं मांगते,
तुमको अपना दिल दे रहे हैं।
इसे रखना तुम दिल से लगा कर,
बस इतना कह रहे हैं ।
याद दिलाता रहेगा यह तुम्हें हमारी,
तुम तो पहले से ही समाए हुए हो इस दिल में,
कैसे जाएगी याद तुम्हारी ।
साथ तुम्हारा था तो रास्ता आसानी से कट गया ,
अब ना जाने कितनी लंबी नजर आएगी डगर हमारी ।
जहां तक अपना साथ था साथ चल लिए ,
आसानी से कट जाए रास्ता तुम्हारा ,
अब यही खुदा से अर्ज़ है हमारी।
             191   21 may 1990

Monday, 7 November 2016

श़ाम.ए इंतज़ार (Waiting for love) Sham e intjaar

हर शाम  तेरे इंतजार में गुजार दी।
हर रात इंतजार की तरह बेकरार थी ।
गम के आंसू पिए जा रहा था मैं हर पल,
तड़प उठ रही थी मन में तेरे दीदार की । ।
तन्हाइयों में खोया रहा है हर शाम तेरी ,
तुमने एक बार भी ना मुझको आवाज़ दी।।।
बेकरारियाँ बढ़ती जा रही थी हर पल मेरी,
क्या बताऊं कैसे कट रही थी बिन यार की।।।।
कब कहां कैसे हुआ प्यार मैं नहीं जानता ,
मगर देखो, क्या सजा मिली मुझे प्यार की।।।।।


                  1.45 pm 17.nov.2k3
English meaning.....
Every evening I spent  waiting for you.
Every night was like waiting dying.
Every moment I was in tears of sorrow,
yearning up in the mind to see you. .
I spent every evening in loneliness,
not even once did you call me ...
Every moment my excitement increase
how can I tell what was going on ....
I do not know  when, where, how I fall in love ,
but look, I being punished for loving you ..... 

Sunday, 6 November 2016

276मिल जाए जो राहों को मेरी ,लौ तेरी

सोचो में डुबो दिया है मुझे
 जिंदगी ने मेरी
 हर पल सताती है याद
 मुझे बस तेरी ही तेरी
किस कदर हो गई है
मेरे मन की नगरी अंधेरी
हो जाए उजाला
इसे मिल जाए जो लौ तेरी
वीरानियों का अंधेरा
इस कदर छा गया है मुझ पर
कि नजर आती है मुझे
अब हर गली अंधेरी
राहें रोशन हो जाए मेरी मंजिल की
मिल जाए जो राहों को मेरी लौ तेरी।

                            276      14 april 1991
English meaning.....
In my life now only work is to think  and think about you only.
While Thinking  my heart filled with sorrow
It darken  the city of my mind
I want presence of your  light
So that darkness of my life vanish
Due to this darkness path of my life seems dark
Paths of my life  illuminate
If I find flame of your presence

Friday, 4 November 2016

 267उनको हम क्यों देखें जिनका चेहरा कुछ और कहे ,
दिल में कुछ और हो 
बातें करें जो हमसे प्यार की ,
दिल में बसा कोई और हो।
जमाने को सिखाते रहे उल्फत की बातें ,
और मन में अपने कुछ और हो ।
उनको ................हो ।

उनको हाल-ए-दिल क्यों सुनाएं,
जिनका ना कोई दिल पर जोर हो ।
बावफा मिलते रहे कितने चाहे,
लेकिन उनका रुख बेवफा की ही और हो।
उनको ............... हो ।

हम करके दिखा देंगे कुछ ऐसा ,
कि हर जगह हमारा ही शोर हो ।
वह चाहे ना करें रुख इस तरफ ,
सबका रुख मगर हमारी ही और हो।
उनको हम क्यों देखें जिनका चेहरा और कहे 
दिल में कुछ और हो।
267 10march 1991

Thursday, 3 November 2016

146 तुमको याद कर रहे हैं जाने वफा हम
वफा तेरी देख कर हर कोई बेवफा लगता है।
याद आती है तुम्हारी हर पल सनम ,
तुम्हारे बिना हर पल तन्हा लगता है
मिलते रहे हैं हम तुम जन्म जन्म,
फिर क्यों यह प्यार नया फ़साना लगता हैं।
नाज़ होता है मुझको कि तू है मेरी जानेमन ,
फिर क्यों मुझे मेरा दिल बेगाना लगता है ।
तुम्हारा दिल है मेरे पास सुन ए जाने जिगर ,
लेकिन इस की धड़कन का साज़ पुराना लगता है।
जैसे इसे किसी और के लिए बजा चुकी हो तुम ,
ये दिल तेरा मुझे बेगाना लगता है।
                    146.        2 jan 1990

Tuesday, 1 November 2016

182 मिलना बिछड़ना मिलना ( Milna Bichdna Milna)


गम  उन्होंने दिया मुझे
दिल उनका कर्ज़दार हो गया।
हम तो उनको अपना बनाने की चाह में लुटते रहे
कोई आया और मुस्कुराया
उनका दिल किसी का हो गया।
हम तो पहले ही लुटे हुए थे
अब तो कर्ज़दार हो गए
हमारे आँसू बहते तो किसी ने न देखे
उनकी हंसी के आँसु मोती हो गए।

चलता रहा यूँ ही सिलसिला
और कोई उन्हें छोड़ कर चल दिया।
हम तो अब भी उन्ही को पूजते थे
वे आए हमारे पास और अपना बना लिया।
हम भी खुश हैं कि वो हमारे पास हैं ,मगर
उनके इक बार किसी के हो जाने के एहसास साथ है
कहीँ वो हमें खिलौना न समझे,
खुद को वो हमसे जुदा न करदे,
ख़ुदा तो गवाह है हमारा
प्यार उन्ही से करते हैं हम।
पर हमने सुना है बहुत चाहने के बाद भी
बेदर्द हो जाते हैं सनम।
                 182      20 April 1990